बाल दिवस पर विद्यालय जाने के लिए बच्चों को हुयी परेशानी

(रिपोर्ट-सैय्यद तामीर उद्दीन) महोबा । बाल दिवस के मौके पर बच्चों को विद्यालय जाने के लिये कीचड़ युक्त मार्ग से जाना पड़ा नगर पालिका परिषद की उदासीनता सामने आयी। सफाई व्यवस्था के नाम पर खाना पूर्ति की जा रही है। शहर के कठकुलवा मोहल्ले के पास कीचड़ युक्त गंदगी के चलते यहां निवास करने वालें लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अनेक बार सफाई व्यवस्था के लिये पालिका को अवगत कराया गया लेकिन जिम्मेदार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे है जिससे इस मोहल्ले में निवास करने वालें लोगों को बाजार आने-जाने में परेशानी होती है, सबसे अधिक परेशानी विद्यालय जाने वाले बच्चों को होती है। सड़क का पता नहीं है, और जगह-जगह कीचड़ व गंदगी नजर आ रही है। अनेक बार शिकायते की लेकिन अभी तक किसी ने ध्यान नहीं दिया। गुरुवार को बाल दिवस के मौके पर मोहल्ले में निवास करने वाले बच्चें स्कूल जाने के लिये घर से सज, धज कर निकले लेकिन उन्हें कीचड़ युक्त सड़क से होकर गुजरना पड़ा जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा इतना ही नहीं बच्चों को तो प्रति दिन इसी कीचड़युक्त सड़क से होकर विद्यालय आना-जाना पड़ता है, लेकिन फिर भी जिम्मेदार चुप्पी साधे हुये है।

स्वच्छ भारत मिशन अभियान की खुल गयी पोल
शहर का कठकुलवा पुरा मोहल्ला स्वच्छ भारत मिशन अभियान को मुंह चिढ़ा रहा है, सफाई व्यवस्था के लिये पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है, लेकिन मुख्यालय के कठकुलवा पुरा मोहल्ले को देख ऐसा प्रतीत होता है, कि यहां सफाई व्यवस्था होती ही नहीं है। मोहल्ले की सड़के कीचड़ युक्त गदंगी से पटी पड़ी हुयी है। मोहल्ले वासियों ने विरोध प्रदर्शन किया, लेकिन जिम्मेदारों की सेहत पर कोई असर नहीं पड़ा मोहल्ले वासियों का कहना है, कि स्वच्छ भारत मिशन अभियान की हकीकत यदि देखना है तो कठकुलवापुरा मोहल्ले में आकर देखी जा सकती है, यह तस्वीर इस बात का प्रमाण दे रही है।