बाल दिवस के मौके पर स्कूलों में लगे मेले,हुयी भाषण व खेल कूद प्रतियोगिताए  

(रिपोर्ट-सैय्यद तामीर उद्दीन) महोबा। चाचा नेहरू की जयंती पर यहां विभिन्न विद्यालयों में बाल मेले लगे मेलों के मौके पर तमाम तरह की दुकानें लगी जहां पहुंचकर बच्चों ने चाट, झूलों का आनंद लिया। खेल कूद की प्रतियोगिताए भी इस मौके पर आयोजित की गयी, वाद विवाद प्रतियोगिताए भी आयोजित की गयी। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के कृतित्व व व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला गया।
शहर के संतजोसफ स्कूल में बाल दिवस के मौके पर मेले का आयोजन किया गया इस का उदघाटन क्षेत्राधिकारी सदर जटाशंकर राव ने किया। यहां मेले में मौके पर तमाम व्यंजनों की दुकानें सजायी गयी थी जहां पहुंचकर छात्रों ने अपने मनपसंद व्यंजनों का आनंद लिया इसके अलावा अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये गये, भाषण प्रतियोगिताए आयोजित की गयी और खेल-कूद की प्रतियोगिताए भी दिन भर चली। इसके अलावा जिले के अन्य स्कूलों में चाचा नेहरू की जयंती पर बाल मेले आयोजित किये गये, जिले भर में बाल दिवस पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किये गये।

बाल दिवस पर हुआ विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन
बाल दिवस के मौके पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया, कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, प्रभारी सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण निर्दोष कुमार ने की। कार्यक्रम में सिविल जज जूनियर डिवीजन अध्यक्ष तहसील विधिक सेवा समिति महोबा दिव्यकान्त राठौर, जिला प्रोबेशन अधिकारी सुधीर कुमार, प्रधानाचार्य श्रीमती शालिनी पाटकार, कृष्ण बिहारी दीक्षित, केशव चन्द्र शुक्ला समेत जिले में नियुक्त न्यायिक अधिकारी,  प्रशासनिक अधिकारी व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया कार्यक्रम में मौजूद प्रशासनिक व न्यायिक अधिकारी, अधिवक्ता तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा सम्बंधित विधिक जानकारियां व शासन द्वारा प्रदत्त योजनाओं के बारे में विस्तृत रूप से वर्णन किया गया कार्यक्रम में मौजूद बच्चों को चाइल्ड हेल्प लाइन नम्बर 1098 के बारे में बताया कि कार्यक्रम का संचालन पराविधिक स्वयं सेवक विश्वनाथ त्रिपाठी ने किया।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा गरीबों को दिलाया न्याय
जिलाविधिक सेवा प्राधिकरण के प्रभारी सचिव निर्दोष कुमार ने जानकारी देते हुये बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा वर्तमान तक कुल 158 गरीब एवं कमजोर वर्ग के महिला एवं पुरुषों को निःशुल्क अधिवक्ता एवं जेल में निरुद्ध 83 बंदियों को कानूनी सलाह एवं दो बंदियों को पारिवारिक जनों को शैक्षणिक एवं चिकित्सीय सहायता तथा वर्तमान वर्ष में कुल 19 शिविरों के आयोजनों के माध्यम से कुल 4839 नागरिकों को कानूनी जानकारी और लीगल एड क्लीनिक के माध्यम से 180 व टेली लाॅ के माध्यम से 375 लोगों की शिकायतों का निस्तारण कराया जा चुका है। उन्होंने यह भ बताया कि उत्तर प्रदेश पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना के तहत दो प्रार्थना पत्रों में रिपोर्ट क्षतिपूर्ति बोर्ड के समक्ष लंबित है। एवं तीन नये प्रार्थना पत्र हाल ही में प्राप्त हुये है, मध्यस्थता केन्द्र द्वारा वर्तमान तक 269 वाद सुलह-समझौते के माध्यम से तथा राष्ट्रीय लोक अदालतों में 5954 वाद निस्तारित कराये जा चुके है।