मौत के मुंह में जाना सफाई कर्मियों की तकदीर, यही है स्वच्छता मिशन का सच

सुल्तानपुर। उत्तर प्रदेश में योगी शासन के उन तमाम दावों की हकीकत सामने आई है। जिसमें योगी शासन को अक्सर सफाई कर्मचारी और स्वच्छता को लेकर बेहतर उपकरण मुहैया कराने के वादे करते हुए देखा और सुना जाता है। आज सुल्तानपुर के सुल्तानपुर के दोस्तपुर गांव में सीवर टैंक की सफाई करते समय शौचालय की जहरीली गैस से 5 लोगों की मौत हो गई। जिससे वहां हड़कम्प मच गया। यदि उन्हें सीवर टैंक साफ करने वाले उपकरण मुहैया करा दिये जाते तो शायत यह हादसा होने से बच जाता है। हालांकि हर बार की तरह इस बार भी सीएम योगी ने इस घटना को दुखद बताय है।
बताया जा रहा है कि जिला सुल्तानपुर के दोस्तपुर थानान्तर्गत ग्राम कटघरा पट्टी में रहने वाले राजेश निषाद के घर में बने सीवर टैंक का पुनर्निर्माण कराया जा रहा था। जिसके लिए 32 वर्षीय राजेश निषाद, 40 वर्षीय अशोक निषाद, 25 वर्षीय रविन्द्र निषाद, 52 वर्षीय मो0 शरीफ और 40 वर्षीय राम किशन लगे हुए थे। पुराने सीवर टैंक के पुनर्निर्माण के समय गैस पाइप नहीं निकालने की वजह से जहरीली गैस के रिसाव से सभी बेहोश होकर सीवर टैंक में गिर गये। सीवर टैंक में गिरने से पांचो लोगों की मौत हो गई। जबकि एक अन्य की हालत गम्भीर बताई जा रही है।
वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुलतानपुर के दोस्तपुर थानांतर्गत ग्राम कटघरा पट्टी में पुराने सीवर टैंक के पुनर्निर्माण के दौरान जहरीली गैस के रिसाव से पांच व्यक्तियों की मौत पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।
सीएम योगी ने इस हादसे में दिवंगत लोगों की आत्मा की शांति की कामना करते हुए उनके शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की है। उन्होंने इस दुर्घटना में घायल एक व्यक्ति का समुचित इलाज कराने के भी निर्देश दिए हैं।