अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

यूपी

यूपी: लावारिस हालत में मिले 140 कछुआ, तस्करी की आशंका

Views

बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में अक्सर कछुओं की तस्करी के मामले सामने आते रहते हैं। इसका उदाहरण एक बार फिर उस समय नजर आया जब बुलंदशहर में पुलिस को लावारिस हालत में दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 140 कछुए लावारिस बोरों में पड़े मिले। कछुए कहां से आए तो और कौन इन्हें छोड़कर गया है, इसकी पुलिस छानबीन करने में जुटी हुई है।
बताते चलें कि बुलंदशहर के छतारी इलाके और खुर्जा देहात क्षेत्र में बीती रात पुलिस को 11 बोरो में 140 कछुए लावारिस अवस्था में पड़े मिले। बड़ी तादाद में कछुआ के मिलने के बाद इन कछुओं की तस्करी का अंदेशा जाहिर किया जा रहा है। वहीं, पुलिस ने सभी कछुओं को कब्जे में लेने के बाद गंगा में छुड़वा दिया है। कछुओं की खेंप मिलने के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि पुलिस चेकिंग से बचने के लिए तस्कर कछुओं को छोड़ भाग निकले होंगे। हालांकि पुलिस इस मामले की जांच के बाद वैधानिक कार्रवाई की बात कह रही है।
बड़ा सवाल यह है कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में कछुओं की खेंप आयी कहा से। पुलिस ने फारेस्ट विभाग के अफसरों को भी सूचना दे दी है। कछुओं की कीमत लाखों रुपये में बताई जा रही है। बुलंदशहर जनपद में गंगा तटीय इलाकों के आसपास से पहले भी कई बार बड़ी तादाद में कछुओं की तस्करी सामने आती रही है, एक बार फिर बड़ी तादाद में मिले कछुओं के बाद से बुलंदशहर से जहां कछुओं की तस्करी के गिरोह सक्रिय होने का अंदेशा साफ हो जाता है वहीं वन विभाग के के अफसरों की पेट्रोलिंग पर भी सवाल खड़े होते हैं कि कैसे गंगा से इन कछुओं को निकालकर तस्कर आसानी से ले जा रहे हैं।

jhansitimes
the authorjhansitimes